उत्तराखंड

उत्तराखंड के प्रमुख चौराहों पर नहीं लगेगा जाम, हाईब्रिड ट्रैफिक लाइट संभालेंगी ट्रैफिक

राज्य के व्यस्त चौराहों पर ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने के लिए यातायात निदेशालय ने 28 चौराहों पर हाईब्रिड ट्रैफिक लाइट लगाने का काम शुरू कर दिया है। साथ ही पहाड़ी जिलों में सीसीटीवी का जाल भी तैयार किया जा रहा है। यातायात निदेशक केवल खुराना ने बताया कि यातायात निदेशालय ने पहली बार खुद ट्रैफिक लाईट लगाने से लेकर रख रखाव की जिम्मेदारी उठाई है। पहले यह काम अगल- अलग विभाग करते थे। प्रदेश के चिन्हित 28 चौराहों में से 24 में इन हाईब्रिड ट्रैफिक लाइट को लगा दिया गया है।

साथ ही चार पहाड़ी जनपदों में जगह का चयन किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि उक्त हाईब्रिड ट्रैफिक लाइट बिजली के साथ ही सोलर से भी संचालित होती हैं। इनमें आटोमैटिड ट्रैफिक सिग्नल लगे हैं, जो अलग-अलग यातायात प्रवाह के हिसाब से संचालित होती हैं। इनमें आपातकालीन वाहन के लिए विशेष ग्रीन सिग्नल की सुविधा भी है।

साथ ही उक्त लाइट रात दस बजे से सुबह छह बजे तक ब्लिंक मोड पर चलती हैं। 24 वोल्ट का करंट होने के कारण दुर्घटना का भी खतरा नहीं रहता। साथ ही इसमें पैदल यात्रियों के लिए भी इसमें सिग्नल दिया गया है। खुराना ने बताया कि इन ट्रैफिक लाईट से यातायात को संचालित करने में काफी मदद मिलेगी। इसके साथ ही निदेशालय पहाड़ी जनपदों में दो सौ सीसीटीवी कैमरे भी लगाने जा रहा है। जिसमें से पौड़ी गढ़वाल और रुद्रप्रयाग में 80 लग भी चुके हैं।