उत्तराखंड

बदरी-केदार में खुले हैं आनलाइन पूजा के लिए द्वार, www.devsthanam.uk.gov.in पर पंजीकरण

कोरोना काल में बदरी-केदार धाम की यात्रा स्थगित होने के कारण पुजारी और उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के कर्मचारी ही पूजा की रस्म निभा रहे हैं। लेकिन, आनलाइन पूजा कोई भी श्रद्धालु करा सकता है। इसके लिए भगवान नारायण और बाबा केदार के द्वार खुले हैं। श्रद्धालु देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट www.devsthanam.uk.gov.in पर पंजीकरण कराने के बाद संबंधित पूजा के लिए तय राशि बोर्ड के खाते में जमा करा सकते हैं।

बदरीनाथ धाम में महाभिषेक पूजा, भोग, आरती, नित्य पूजाएं और रात को शयन आरती हमेशा की तरह हो रही है। यह सभी अनुष्ठान मुख्य पुजारी रावल ईश्वर प्रसाद नंबूदरी के सानिध्य में संपन्न हो रहे हैं। धर्माधिकारी व वेदपाठी इसमें सहभाग कर रहे हैं। धाम में आनलाइन बुक की हुई पूजा की पुकार भी भगवान नारायण के समक्ष प्रतिदिन लग रही है। आनलाइन पूजा के लिए मंदिर की वेबसाइट पर जाकर उसमें श्रद्धालु को अपना नाम, परिवार के सदस्यों का नाम, गोत्र व शहर का नाम दर्ज करना पड़ता है। साथ ही कौन सी पूजा करवानी है, इसका भी उल्लेख करना होता है। इसी के आधार पर देवस्थानम बोर्ड के अधिकारी संबंधित श्रद्धालु की रसीद काटकर उसे पूजा में शामिल करते हैं।