राष्ट्रीय

अंबाला एयरबेस पर राफेल लड़ाकू विमानों की सुरक्षित लैंडिंग, राजनाथ सिंह बोले – विमानों का पहुंचना हमारे सैन्य इतिहास में एक नए युग की शुरुआत

भारतीय वायु सीमा में पांच लड़ाकू राफेल विमान दाखिल हो चुके हैं। राफेल लड़ाकू विमान अंबाला एयरबेस में सुरक्षित लैंड कर चुके हैं। विमानों के स्वागत में बेस पर वॉटर सैल्यूट दिया जा रहा है।  इस मौके पर देशभर में खुशी की लहर है। एयरफोर्स चीफ आरकेएस भदौरिया राफेल के स्वागत के लिए अंबाला एयरबेस पर मौजूद हैं। राफेल विमानों के अंबाला एयरबेस पर लैंड करने पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वायुसेना को बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, बर्ड्स अंबाला में सुरक्षित उतर गए हैं।

भारत में राफेल लड़ाकू विमानों का पहुंचना हमारे सैन्य इतिहास में एक नए युग की शुरुआत है। ये मल्टीरोल वाले विमान वायुसेना की क्षमताओं में क्रांतिकारी बदलाव लाएंगे। इससे पहले भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने अनुमान जताया था  कि आज अंबाला में बारिश हो सकती है। जिसके चलते जोधपुर एयरबेस को स्टैंडबाई पॉजिशन में रखा गया था। बता दें विमान ने सोमवार को फ्रांस के एयरबेस से उड़ान भरी थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक,  5 राफेल विमानों को फिलहाल अंबाला एयरबेस पर ही रखा जाएगा। सुरक्षा कारणों से राफेल की लैंडिंग की वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।

अंबाला प्रशासन ने बेस के आसपास धारा-144 लगा दिया है। ताकि इलाके में लड़ाकू विमान देखने के लिए भीड़ न जुट जाए। अंबाला के डिप्टी कमिश्नर ने एयरबेस के आसपास फोटोग्राफी और वीडियो रिकॉर्डिंग को भी बैन किया है। लोगों को घर की छतों पर भी नहीं जाने को कहा गया है। राफेल विमानों के आने के मौके पर हरियाणा के गृह और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने भी खुशी का इजहार किया। उन्होंने कहा कि आज इतिहास बन रहा है। अंबाला के लोग राफेल फाइटर जेट्स के आने का इंतजार कर रहे हैं। अगर कोरोनावायरस महामारी न फैली होती, तो यहां लोग जश्न मना कर फाइटर जेट्स का स्वागत करते।

Coronavirus in India LIVE News and Updates बता दें कि राफेल जेट्स ने सोमवार को फ्रांस के मेरिग्नैत एयरबेस से उड़ान भरी थी। यह विमान करीब 7 हजार किलोमीटर की दूरी तय कर भारत आने वाले हैं। बीच में इन जेट्स को संयुक्त अरब अमीरात में उतारा गया था। वहीं, कल राफेल की एयर-टू-एयर रिफ्यूलिंग भी की गई थी।