उत्तराखंड

उत्तराखंड में हुआ बड़ा प्रशासनिक उलटफेर, 24 IAS समेत 30 अफसरों में फेरबदल

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने सचिवालय में तैनात 24 आईएएस समेत 30 अफसरों में फेरबदल किया है। पहले फेरबदल में सीएम की तरफ से कोई बड़ा उलट-फेर नहीं किया गया है। सोमवार देर शाम सीएम की हरी झंडी के बाद कार्मिक विभाग ने यह आदेश किए हैं। अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी से सैनिक कल्याण हटा कर आयुक्त समाज कल्याण और प्रमुख सचिव आरके सुधांशू से खनन वापस लेकर ग्रामीण निर्माण की जिम्मेदारी दी है। प्रमुख सचिव एल फैनई को सैनिक कल्याण सौंपा गया है। सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम से महानिदेशक शिक्षा वापस लेकर उनका कद बढ़ाकर खनन की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी है।

सीएम ने अपने सचिव शैलेश बगोली का हल्का ही रखा है, उनसे परिवहन वापस ले लिया है। सचिव डी सैंथिल पांडियन को कौशल विकास एवं सेवायोजन अतिरिक्त दिए हैं, जबकि नितेश कुमार झा से सिंचाई व लघु सिंचाई वापस ले लिया है। डा. पंकज कुमार पांडेय को चिकित्सा शिक्षा महानिदेशक की नई जिम्मेदारी दी गई है। डा. रंजीत कुमार सिन्हा से कौशल विकास एवं सेवायोजन हटाकर परिवहन, एसए मुरुगेशन से सिडकुल व आयुक्त उद्योग हटाकर सिंचाई व लघु सिंचाई, बृजेश कुमार संत से ग्रामीण निर्माण हटा निदेशक खनन तो चंद्रेश कुमार को आयुक्त एवं सचिव राजस्व परिषद की नई जिम्मेदारी दी है।

प्रभारी सचिव वी षणमुगम से सामान्य प्रशासन वापस लेकर नियोजन व निदेशक आडिट, नीरज खैरवाल को उरेडा व विनय शंकर को पांडेय को महानिदेशक (शिक्षा) की अतिरिक्त कार्यभार दिया है। सुरेंद्र नारायण पांडेय से ऊर्जा एवं उरेडा हटाकर आवास आयुक्त, अपर मुख्य प्रशासक, उत्तराखंड आवास एवं नगर विकास प्राधिकरण सौंपा है। ये सभी विभाग विनोद कुमार सुमन से वापस लिए हैं।