उत्तराखंड

हल्द्वानीः फिल्मी स्टाइल में रजाई के कवर की रस्सी बनाकर बाल सुधार गृह से सात किशोर फरार

राजकीय सम्प्रेक्षण गृह (किशोर) से बुधवार-गुरुवार आधी रात तीन मंजिला भवन की खिड़की की ग्रिल तोड़कर सात नाबालिग रजाई के कवर से बनाई रस्सी के जरिए करीब 23 फीट ऊंची खिड़की से कूदकर फरार हो गए। सूचना मिलते ही आनन-फानन से पुलिस टीमों ने फरार किशोरों  की खोजबीन शुरू कर हुई। दोपहर के वक्त पुलिस ने राजपुरा क्षेत्र से दो नाबालिगों को बरामद कर लिया, जबकि बाकी पांचों का देर शाम तक सुराग नहीं लग सका था।

जानकारी के अनुसार कालाढूंगी रोड स्थित पशु चिकित्सालय के सामने स्थित राजकीय सम्प्रेक्षण गृह में विभिन्न आरोपों में बंद 13 किशोरों का रखा गया है। बताया जा रहा है कि बीती देर रात करीब दो बजे बाल सम्प्रेक्षण गृह भवन की तीसरी मंजिल के एक कमरे में बंद सात किशोरों ने भागने की प्लानिंग के तहत अंदर रखे सामान से खिड़की की ग्रिल तोड़कर जाली फाड़ दी।

इसके बाद रजाई के कवर की रस्सी बनाकर खिड़की से नीचे लटका दी। इसी रस्सी के सहारे सातों नीचे उतरे और परिसर की दीवार पर सीढ़ी लगाकर फरार हो गए। सुबह करीब साढ़े चार बजे सुधार गृह के चौकीदार महेंद्र पाल ने खिड़की से रस्सी लटकी देखी तो पूरी घटना की जानकारी मिली। सूचना मिलते ही आनन-फानन से जिला प्रोवेशन अधिकारी व्योमा जैन, एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी समेत पुलिस और प्रशासन के तमाम अफसर मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने तत्काल नाकेबंदी कर फरार आरोपियों की तलाश शुरू की गई, दोपहर तक पुलिस ने दो नाबालिगों को पकड़ लिया, बाकी की तलाश की जा रही है। जिला प्रोवेशन अधिकारी व्योमा जैन ने बताया कि मामले में सुधार गृह के सुरक्षा कर्मियों और चौकीदार समेत तीन को नोटिस देकर जवाब तलब किया गया है।