उत्तराखंड

उत्तराखंड में सरकार कॉलेज खोलने को तैयार, सर्दियों की छुट्टियों के बाद होगा फैसला

उत्तराखंड सरकार उच्च शिक्षण संस्थानों  को पूरी तरह खोलने को तैयार हो गई है। इन कॉलेजों में शीतकालीन छुट्टी समाप्त होने के बाद विधिवत आदेश हो सकता है। सरकार ने पिछले साल दिसंबर से कॉलेजों को प्रैक्टिकल संचालित करने की अनुमति दी है। लेकिन, अब कोरोना के हालात काफी हद तक काबू में आने और वैक्सीनेशन शुरू होने से सरकार इन कॉलेजों में पठन-पाठन सामान्य करने की दिशा में बढ़ रही है। इसलिए उच्च शिक्षा विभाग फरवरी से कॉलेजों में पढ़ाई शुरू कराने की तैयारी में है।

दरअसल, पहाड़ में नेटवर्क की समस्या होने से ऑनलाइन पढ़ाई नाममात्र ही हो पा रही है। इसलिए मौजूदा शैक्षिक सत्र से पहले कुछ महीने नियमित कक्षाएं संचालित करना सरकार के लिए जरूरी हो गया है। केंद्र पहले ही कॉलेज खोलने का निर्णय राज्य पर छोड़ चुका है। निजी कॉलेजों के संचालक भी सरकार से नियमित संचालन की अनुमति मांग रहे हैं। दूसरी ओर, राज्य सरकार ने फाइनल ईयर के छात्रों को प्रैक्टिकल के लिए कॉलेज आने की अनुमति दी हुई है। कई छात्र आने को तैयार नहीं। कक्षाओं में दो-चार छात्र ही नियमित आ रहे हैं।

एसोसिएशन ऑफ सेल्फ फाइनेंस इंस्टीट्यूट के अध्यक्ष सुनील अग्रवाल के मुताबिक, नियमित कॉलेज खोले बिना पढ़ाई का माहौल नहीं बन पा रहा है। ऑनलाइन पढ़ाई नाममात्र की ही है। वर्तमान व्यवस्था में कॉलेजों को भी ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरह के खर्च उठाने पड़ रहे हैं।

कॉलेजों को खोलने पर सहमति बन चुकी है। शीतकालीन अवकाश के बाद इस पर अंतिम निर्णय ले लिया जाएगा। कोशिश है कि कुछ माह में पठन-पाठन तेज कर पाठ्यक्रम पूरा करा लिया जाए। इस साल सत्र थोड़ा पीछे भी खिसक सकता है।