उत्तराखंड

पूर्व केंद्रीय मंत्री बची सिंह रावत का कोरोना से निधन,चार बार संसद रहे चुके हैं

भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री बची सिंह रावत का निधन हो गया। कोरोना पॉजिटिव पूर्व मंत्री की हालत फेफड़ों में इन्फेक्शन के चलते चिंताजनक थी। बीते शनिवार उन्हें एयरलिफ्ट कर हल्द्वानी से ऋषिकेश एम्स में भर्ती कराया गया था। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने उनके निधन पर शोक जताया है।  एम्स निदेशक प्रोफेसर रविकांत ने बताया कि फेफड़ों से संबंधित दिक्कत के चलते बची सिंह को एम्स लाया गया था। उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। रविवार रात करीब 8:45 बजे उनका निधन हो गया। बची सिंह का जन्म एक अगस्त 1949 को रानीखेत के पास थापला गांव में हुआ।

उन्होंने लखनऊ विवि से लॉ की डिग्री ली और रानीखेत कोर्ट में प्रेक्टिस करने लगे। यूपी में वे दो बार विधायक रहे। बाद में चार बार सांसद और दो बार केंद्र में राज्यमंत्री रहे। 2007 से 2009 तक वे उत्तराखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भी रहे। हालांकि अलग उत्तराखंड बनने के बाद उन्होंने कोई विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा। 2014 में उन्होंने भाजपा से इस्तीफा दे दिया था लेकिन बाद में वापस पार्टी में आ गए।