उत्तराखंड

कोरोना पर ब्रेक लगाने के लिए सेंपलिंग पर रहेगा फोकस,होली के लिए बनेगी गाइडलाइन

देश के कुछ राज्यों में कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद अब जिले में फिर से सेंपलिंग बढ़ाई जाएगी। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन के साथ ही बार्डर चेकपोस्ट पर इसके लिए मजबूत इंतजाम किए जाएंगे। कोरोना संक्रमण की रफ्तार राज्य में जहां धीरे-धीरे बढ़ रही है, वहीं कई राज्यों में इसने गति पकड़ ली है। कोरोना पर लगाम के लिए जिले में फिर सेंपलिंग बढ़ाई जानी है। हालांकि, पूर्व में चेक प्वाइंटों समेत कैंप लगाकर सेंपलिंग करने वाली अधिकांश टीमें इस वक्त वैक्सीनेशन में लगी हैं। ऐसे में सेंपलिंग बढ़ाने में दिक्कत आ रही है।  डीएम डा. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि वैक्सीनेशन की प्रक्रिया सतत चलती रहेगी। अब सेपलिंग बढ़ाने के लिए इसके लिए नई टीमें तैयार की जाएगी।

उन्होंने बताया कि अगले दो दिन में यह व्यवस्था बनाने का निर्देश सीएमओ को दिया गया है। सेंपलिंग बढ़ी तो बिना सिमटर्म वाले जिन कोरोना मरीजों की घूमने की संभावना ज्यादा रहती है, उस पर लगाम लगेगी। उन्होंने बताया कि बार्डर पर चेकिंग के लिए टीमें अभी और बढ़ाई जाएंगी। बता दें कि उत्तराखंड में मंगलवार को कोरोना के 94 नये मरीज सामने आए। 52 मरीज ठीक भी हुए। अभी भी राज्य में कोरोना के 930 एक्टिव केस मौजूद हैं। संक्रमण दर 3.71 प्रतिशत पहुंच गई है।

डीएम ने बताया कि आने वाले दिनों में होली वर्ष के साथ ही झंडा मेला अहम होगा। इस दौरान कोरोना संक्रमण न बढ़ने पाए, इसके लिए कुछ एहतियात बरती जाएगी। इसके लिए शहर में मास्क नहीं पहनने वालों सोशल डिस्टेंस तोड़ने वालों पर सख्ती की जाएगी। उन्होंने बताया कि दोनों पर्व के लिए गाइड लाइन फाइनल की जा रही है। इसे जल्द ही जारी कर दिया जाएगा।