उत्तराखंड

उत्तराखंड में इन राज्यों से आने वालों पर फोकस, बॉर्डर पर होगी RT-PCR जांच

देश के कई राज्यों में कोरोना के मामले बढ़ने के बाद उत्तराखंड में भी एहतियान कोरोना जांच का दायरा बढ़ा दिया गया है। यहां आने वालों की बॉर्डर पर जांच शुरू कर दी गई है। पहाड़ जाने वाले प्रवासियों की ऋषिकेश में जांच की जा रही है। जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर स्वास्थ्य विभाग की दो टीमें तैनात कर दी गई हैं। लेकिन, हिमाचल-नेपाल बॉर्डर पर जांच का काम अभी शुरू नहीं किया गया है। स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. तृप्ति बहुगुणा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि राज्य के बॉर्डर और बाकी स्थानों पर कोरोना जांच को लेकर जिलाधिकारी समय और जरूरत के अनुसार निर्णय ले रहे हैं। उन्होंने बताया कि, राज्य में अभी संक्रमण की स्थिति नियंत्रण में है। राज्य के बॉर्डर के साथ जिलों के बॉर्डर पर भी जांच शुरू हो गई है।

नैनीताल की सीमा में प्रवेश पर रुद्रपुर के टांडा और यूएसनगर जिले से लगे रामनगर में भी रैंडम जांच हो रही है। पिथौरागढ़ में एंचोली और बागेश्वर में बिलौना और कौसानी में यात्रियों की जांच की जा रही है। बता दें कि उत्तराखंड में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से शनिवार को जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, प्रदेशभर में कोरोना के 257 नए मामले सामने आए हैं। राहत की बात है कि 67 लोग स्वस्थ भी हुए हैं, जबकि चिंता की बात है कि एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 1339 पहुंच गई है। उत्तराखंड में अब कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 99,515 हो गई है। प्रदेश में आज एक कोरोना

संक्रमित की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा 1709 पहुंच गया है। विभागीय आंकड़ों की मानें तो कोरोना के सबसे ज्यादा 126 मामले देहरादून जिले में आए हैं जबकि हरिद्वार में 73 और टिहरी में 15 केसों की पहचान हुई है। नैनीताल में 12,यूएसनगर में 10,पौड़ी में पांच,उत्तरकाशी में चार और  पिथौरागढ़,रुद्रप्रयाग व चंपावत जिले में तीन-तीन कोरोना संक्रमित मिले हैं। अल्मोड़ा में दो और चमोली जिले में एक केस आया है। राहत की बात है कि बागेश्वर जिले में आज एक भी कोरोना संक्रमित नहीं मिला है।