उत्तराखंड

राम मंदिर भूमि के लिए बदरीनाथ की मिट्टी व जल कलश हुआ रवाना

अयोध्या में 5 अगस्त को होने वाले श्री राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन के लिये बदरीनाथ की मिट्टी और पवित्र अलकनन्दा का जल कलश लेकर विहिप के कार्यकर्ता रवाना हो गये हैं।

सोमवार को बदरीनाथ धाम के रावल ईश्वरी प्रसाद  व धर्माधिकारी भुवन चंन्द्र उनियाल ने बदरीनाथ की माटी और अलकनन्दा के जल के कलश को विहिप के नेताओं  देवी प्रसाद देवली,लक्ष्मण फरकिया,आदित्य रावत,सतीश देवली, विजेंद्र को सोंपा।

बदरीनाथ के नारायण पर्वत की मिट्टी के पात्र व जल कलश को भगवान बदरी विशाल के सानिध्य में रखने के बाद इन्हे सोमवार को बदरीनाथ के सिंहद्वार पर आयोजित  सूक्ष्म किन्तु  गरिमा मय  वातारण में लाया गया । जहां पर इन्हे विहिप को सोंपा गया ।

विहिप विभाग चमोली जिले के अध्यक्ष देव प्रसाद देवजी ने  माटी और जल कलश को गृहण कर कहा कि  बदरीनाथ से  सोमवार को प्रस्थान कर जल एवं माटी ले जा रहे हैं। आज रात्रि विश्राम जोशीमठ  पहुंचेगा। मंगलवार को  चमोली, कर्णप्रयाग से होकर रुद्रप्रयाग में केदारनाथ से जल ले आ रही टीम के साथ टिहरी पहुचेंगे।

गंगोत्री  व यमुनोत्री से जल लाई हुए टीम से मुलाकात किया जाएगा। 29 तारिख को प्रान्त की टीम को सम्पूर्ण जल एवं माटी सुपुर्द  किया जाएगा ताकि अयोध्या में होने वाले श्री राम मंदिर निर्माण में इसका उपयोग हो सके।