उत्तराखंड

विश्वविद्यालयों, कॉलेजों के बाद अब सरकारी व प्राइवेट स्कूलों में ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित

उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते केसों के बीच शिक्षा विभाग ने सख्त कदम उठाया है। प्रदेशभर के सरकारी, प्राइवेट सहित बोर्डिंग स्कूलों में ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित कर दिया है। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने बताया कि ग्रीष्मकालीन अवकाश 30 जून तक रहेगा। स्कूलों में छुट्टी के आदेश सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने जारी कर दिए है। आदेश के अनुसार वर्तमान में कोविड के संक्रमण की दूसरी लहर की रोकथाम को ध्यान में रखते हुए पूर्व में जारी आदेशों के क्रम में प्रदेश में संचालित शासकीय/अशासकीय/निजी स्कूलों (डे-बोर्डिंग) में आगामी 30 जून 20२1 तक ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित कर दिया गया है। इस दौरान यदि कोई स्कूल छात्रहित में ऑनलाइन माध्यम से अध्ययन कार्य कराना चाहते है तो वह अपनी सुविधा के अनुसार ऑनलाइन कक्षाएं संचालित कर सकते हैं।

बता दें कि कोविड की दूसरी लहर को देखते हुए, उच्च शिक्षा विभाग ने सरकारी विश्वविद्यालयों, कॉलेजों में सात मई से 12 जून तक ग्रीष्मअवकाश घोषित कर दिया है। कॉलेज अप्रैल तीसरे सप्ताह से ही बंद चल रहे हैं। कोविड संक्रमण रोकने के लिए सरकार पहले ही विश्वविद्यालय, कॉलेजों में बंदी लागू कर चुकी थी, अब उच्च शिक्षा विभाग ने जल्द हालात काबू न आते देख अभी से ग्रीष्मकालीन अवकाश भी लागू कर दिया है। पहले ग्रीष्मकालीन अवकाश आमतौर पर जून- जुलाई में होता था। उप सचिव शिव स्वरूप त्रिपाठी की ओर से जारी आदेश के अनुसार ग्रीष्मकालीन अवकाश में पूर्व और भविष्य के देय अवकाशों को शामिल किया गया है।