उत्तराखंड

त्रिवेंद्र रावत: कोरोना मृत्यु दर कम करने पर फोकस करें अफसर, कान्टेक्ट ट्रेसिंग, व सेम्पलिंग पर हो फोकस

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कोरोना महामारी को नियंत्रित करने के लिए कान्टेक्ट ट्रेसिंग, सर्विलांस और सेम्पलिंग बढ़ाने पर जोर दिया। उन्होंने मृत्यु दर कम करने के लिए गंभीर मरीजों पर विशेष फोकस करने और इसकी निगरानी डीएम और सीएमओ स्तर पर करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने शनिवार को सविवालय में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोरोना महामारी की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के एक्टिव मामलों में कमी के बावजूद सावधान रहने की जरूरत है। प्रशासनिक स्तर पर किसी तरह की ढिलाई न बरती जाए। हमारा रिकवरी रेट 81 प्रतिशत से अधिक है, लेकिन मृत्यु दर को कम करने पर जोर दिया जाए।

सीएम ने कहा कि राज्य में चार महीनों के भीतर कोरोना रोकथाम के लिए काफी काम हुआ है। एक्टिव मरीजों की संख्यां पांच सौ से कम हो गई है। लेकिन अभी आराम का समय नहीं है। उन्होंने क्वारंटाइन सेंटरों की स्थिति में सुधार के साथ ही डेथ ऑडिट में पाई गई खामियों को दूर करने के निर्देश दिए।

क्लीनिकल मैनेजमेंट में गंभीरतम मामलों पर उच्च स्तर से मॉनीटरिंग करने को भी कहा। उन्होंने आशा, आंगनबाड़ी कार्यकत्रि व अन्य फ्रंटलाईन वर्कर का मानदेय समय पर भुगतान के निर्देश दिए। इन्हें फेस शील्ड, सेनेटाईजर आदि उपलब्घ करवाया जाए। मुख्यमंत्री ने मास्क व फिजिकल डिस्टेसिंग का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए।

बैठक में आयुक्त गढ़वाल रविनाथ रमन, आयुक्त कुमायूं अरविंद सिंह ह्यांकि, सचिव डा. पंकज कुमार पाण्डेय, अपर सचिव युगल किशोर पंत, महानिदेशक स्वास्थ्य डा. अमिता उप्रेती सहित सभी डीएम व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।