राष्ट्रीय

बिहार में दूसरे चरण का मतदान खत्म, कोरोना के कोहराम पर भारी पड़ा वोटरों का उत्साह

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के दूसरे चरण में 17 जिलों की 94 सीटों पर मतदान हुआ। कोरोना काल में हो रहे इस चुनाव में वोटरों में काफी उत्साह दिखा। सुबह से ही मतदान केंद्रों पर लंबी-लंबी लाइनें दिखीं। पहले चरण की तरह ही इस बार भी मतदाताओं ने लोकतंत्र के इस पर्व में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। दूसरे चरण में कई दिग्गजों की किस्मत का फैसला मतदाताओं ने कर दिया है। इसमें आरजेडी नेता और महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव, पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव और प्लूरल्स पार्टी की प्रेसिडेंट पुष्पम प्रिया चौधरी जैसे उम्मीदवार शामिल हैं। बिहार चुनाव के नतीजे 10 नवंबर को आएंगे।

मतदान की प्रक्रिया सुबह 7 बजे शुरू हो गई। शुरुआत में कुछ मतादन केंद्रों से ईवीएम खराब होने की बात सामने आई थी। हालांकि चुनाव आयोग के कर्मियों ंसे जल्द ही उसे ठीक कर दिया। पहले चरण की तरह दूसरे चरण में पूरी मतदान प्रक्रिया शांति पूर्वक संपन्न हो गई। किसी भी तरह की कोई अप्रिय घटना की खबर नहीं है। हालांकि कई जिलों में अलग-अलग जगह लोगों ने मतदान का बहिष्कार किया। उनका कहना था कि वादे के मुताबिक विकास कार्य नहीं हुए। अधिकारियों के समझाने के बावजूद वहां के लोग नहीं माने और मतदान का बहिष्कार कर दिया। वहीं कोरोना के लिए हर केंद्र पर विशेष इंतजाम किए गए थे। बगैर मास्क के मतदान करने की इजाजत नहीं थी।

संवेदनशील क्षेत्रों में आने वाले चार जिलों के आठ निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान का समय शाम चार बजे ही खत्म हो गया था। इनमें दरभंगा का कुशेश्वरस्थान (सु), गौड़ाबौराम, मुजफ्फरपुर के मीनापुर, पारू व साहेबगंज तथा वैशाली का राघोपुर एवं खगड़िया का अलौली (सु) व बेलदौर निर्वाचन क्षेत्र शामिल है। शेष सभी चुनाव क्षेत्रों में सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक चुनाव का समय था। दूसरी तरफ छपरा में कुछ उपद्रवियों ने ईवीएम मशीन को तोड़ दिया। इस कारण काफी देर तक मतदान बाधिक रहा। वहीं चुनाव ड्यूटी में तैनात एक सुरक्षाकर्मी की मौत भी हो गई।