उत्तराखंडराष्ट्रीय

नर्सिंग-डे पर अस्पतालों में फूल बरसा, बुके देकर किया नर्सों को सम्मानित

नर्सिंग डे के मौके पर मंगलवार दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में नर्सिंग स्टॉफ की बेहतरीन सेवाओं के लिए उनके ऊपर फूल बरसा एवं बुके और बूस्टर नामक रोग प्रतिरोधक दवाएं देकर सम्मान किया।

प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना, एमएस डा. केके टम्टा, डिप्टी एमएस डा. एनएस खत्री, डा. मनोज शर्मा ने कहा कि कोरोना के संकट में जिस तरह से नर्सिंग स्टॉफ ने सेवाएं दी है, वो काबिले तारीफ है। उनके दम पर ही कोरोना से दून अस्पताल लड़ाई लड़ रहा है। नर्सिंग स्टॉफ ने नर्सिंग संस्थापक फ्लोरेंस नाइटिंगेल के चित्र पर पुष्प अर्पित किये और कैंडल जला उनके महान कार्यों की शपथ ली।

इस दौरान डा. एसडी जोशी, डा. केसी पंत, डा. अनिल जोशी, डा. अभय, डा. अनुराग अग्रवाल, डा. नारायणतीज सिंह, डा. एमके पंत, एएनएस रामेश्वरी नेगी, अंजना नोक्स, तुलसा चौधरी, निर्मला गर्ग, सिस्टर इंदु शर्मा, मंजु चौहान, विनीता फिलिप, अनीता जैन, सुनीता आर्थर, विद्या चौबे, रेखा बिष्ट, गीता वर्मा, रेनू सेठिया, चीफ फार्मासिस्ट सुधा कुकरेती, वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी महेंद्र भंडारी, अभय नेगी, संदीप राणा, दिनेश रावत, गौरव, जीएस थलवाल आदि मौजूद रहे।

जिला अस्पताल (कोरोनेशन-गांधी अस्पताल) में नर्सेज डे सादगी के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर मनाया गया। आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक फ्लोरेंस नाइटिंगेल को मोमबत्ती जला और उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

वहीं, कोरोना में शहीद नर्सों को नमन कर कोरोना के खात्मे की प्रार्थना की गई। प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. बीसी रमोला, डा. प्रवीण पंवार, डा. जेपी नौटियाल, नर्सेज एसो. की अध्यक्ष मीनाक्षी जखमोला समेत अन्य ने नर्सों के कार्यों की सराहना कर कोरोना योद्धा बताया।

एएनएस कुसुम, सिस्टर रोजी, कल्पना, स्टॉफ नर्स गीता आदि मौजूद रहे। उधर, प्रेमनगर अस्पताल में नर्सिंग स्टॉफ को स्थानीय व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने पुष्प और उपहार देकर सम्मानित किया। नर्सिंग स्टॉफ किरन ने प्रेमनगर बस्ती में जरूरतमंदों बच्चों को फल बांटे।