उत्तराखंड

कोरोनो की लड़ाई में अल्मोड़ा में भी जांच लैब स्वीकृत होने की उम्मीद

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि कोरोना के संक्रमण काल में जो भी व्यक्ति किसी न किसी प्रकार से अपनी मदद कर रहा है, वह सभी कोरोना वॉरियर्स है। उन्होंने कहा कि यह भी महामारी का पहला चरण है।

हमें आगे और सावधान होने की जरूरत है। सोमवार को हल्द्वानी पहुंचे मुख्यमंत्री रावत ने सर्किट हाउस में कोरोना की समीक्षा को लेकर जिले भर के अधिकारी के साथ बैठक की उसके बाद पत्रकार वार्ता करते हुए सीएम रावत ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण का स्तर नहीं के बराबर है।

किंतु जो हमारे लोग बाहरी राज्यों से आ रहे हैं उनसे खतरा बढ़ रहा है। उन्होंने बाहर से आने वाले लोगों से सहयोग की अपील की। सीएम ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम प्रधान पूरी जिम्मेदारी के साथ काम कर रहे हैं।

रावत ने माना कि प्रदेश में कोरोना जांच लैब काफी कम है। इसके लिए केंद्र सरकार से वार्ता चल रही है। जल्द ही इस पर सकारात्मक परिणाम सामने आने की संभावना है। अल्मोड़ा में जल्द ही जांच लैब स्वीकृत होने की संभावना है। पत्रकार वार्ता में प्रभारी मंत्री यशपाल आर्य, सांसद अजय भट्ट भी मौजूद रहे।