उत्तराखंड

कुंभ आ रहे हैं तो ध्यान दें, अमिट स्याही चेक्ड मार्क के बिना आश्रम-धर्मशाला में नहीं मिलेगा प्रवेश

हरिद्वार कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को एंट्री पास और हथेली के ऊपरी भाग पर अमिट स्याही के चेक्ड मार्क के बिना किसी भी आश्रम व धर्मशाला में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। सरकार द्वारा जारी की गई एसओपी में यह प्रविधान किया गया है। चेक्ड मार्क से यह स्पष्ट हो जाएगा कि संबंधित यात्री ने प्रवेश के लिए पंजीकरण, आरटीपीसीआर की निगेटिव जांच रिपोर्ट समेत सभी मानकों का पालन किया है।

कोरोना संक्रमण के लिहाज से संवेदनशील माने जाने वाले 65 साल से अधिक आयु के व्यक्तियों और 10 साल से कम आयु के बच्चे यदि कोविड निगेटिव रिपोर्ट के साथ हरिद्वार आकर होटल, आश्रम, धर्मशाला, अतिथि गृह में ठहरते हैं तो उन्हें स्नान करने और अन्य स्थलों पर जाने से हतोत्साहित किया जाएगा। एसओपी में यह प्रविधान किया गया है।