उत्तराखंड

हरिद्वार : कल बसंत पंचमी का स्नान, भारी वाहन आज हो जाएंगे बंद

कल मंगलवार को बसंत पंचमी स्नान को लेकर आज से हरिद्वार में भारी वाहनों की एंट्री बंद कर दी जाएगी। आवश्यक वस्तु लेकर आने वाले वाहनों को ही जाने दिया जाएगा। पुलिस और प्रशासन ने स्नान को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली है। जबकि आज सोमवार को जरूरत पड़ने पर दिल्ली से आने वाला ट्रैफिक वाया लक्सर होकर हरिद्वार भेजा जाएगा। श्रद्धालुओं को किसी भी तरह के पंजीकरण और कोविड-19 के आरटीपीसीआर नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट की जरूरत नहीं होगी। सीमा पर रैंडम जांच की जाएगी। जिस तरह बीते 11 फरवरी मौनी अमावस्या के स्नान पर किया गया था।

मंगलवार को कुंभ के तीसरे पर्व बसंत पचंमी का स्नान होना है। इसको लेकर पहले ही व्यवस्थाएं तैयारी की गई थी। इस स्नान में मौनी अमावस्या स्नान की तरह ही व्यवस्थाएं की गई है। सोमवार को जिले की सीमाओं पर सख्ती के साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीमें भी तैनात कर दी जाएगी। जो हरिद्वार आने वाले श्रद्धालुओं के रैंडम कोरोना की जांच करेगी। यह जांच सीमाओं के अलावा हरकी पैड़ी पर भी की जाएगी। पिछला स्नान फेल होने के बाद इस स्नान में करीब 3 से 7 लाख ही श्रद्धालु आने का अनुमान लगाया जा रहा है।

सोमवार की शाम से लागू होने वाले ट्रैफिक प्लान के मुताबिक हरिद्वार आने वाले वाहनों को वाया लक्सर से हरिद्वार लाया जाएगा। यहां से वाहनों को चमगादड़ टापू और दीनदयाल उपाध्याय पार्किंग में लाया जाएगा। देहरादून से आने वाले वाहनों को उत्तरी हरिद्वार के मोतीचूर और पावन धाम में पार्किंग कराई जाएगी। वही मुरादाबाद से आने वाले वाहनों को दक्ष द्वीप और नीलेश्वर में पार्क किए जाएंगे। उधर दोपहर बाद भारी वाहनों को सीमाओं पर रोका गया। आवश्यक कार्य से आने वाले वाहनों को आने-जाने दिया गया। लेकिन भीड़ कम होने पर ट्रैफिक प्लान को लागू नहीं किया जाएगा। भारी वाहनों को सीमा पर रोक दी जाएगा। नारसन, लालतप्पड़ और चिड़ियापुर में भारी वाहनों को रोका जाएगा।