उत्तराखंड

प्राइवेट स्कूलों में फीस को लेकर सरकार का बड़ा ऐलान

कोरोना की वजह से संकट में फंसे अभिभावकों से फीस किस्तों में भी ली जा सकेगी। सरकार ने प्राइवेट स्कूलों को कक्षा 10 और 12 वीं के छात्रों से पूरी फीस लेने की छूट के साथ यह स्वैच्छिक शर्त भी जोड़ी है। सरकार ने कहा कि जो अभिभावक एक साथ फीस देने में सक्षम नहीं है, उनसे किस्त में फीस लेने पर स्कूल सहानुभूतिपूर्व सकारात्मक निर्णय लेंगे। शुक्रवार फीस को लेकर सरकार ने विधिवत आदेश जारी किया। आपके अपने अखबार ‘हिन्दुस्तान’ दो रोज पहले ही इस पर प्रमुखता से रिपोर्ट प्रकाशित कर दी थी।

फीस को लेकर रेड रोज कांवेट स्कूल के केस के परिप्रेक्ष्य में हाईकोर्ट ने सरकार को कार्रवाई के लिए कहा था। शिक्षा सचिव आर मीनाक्षीसुंदरम ने बताया कि सरकार ने दो नवंबर से कक्षा 10 और 12 वीं को खोलने की अनुमति दे दी है। दो नवंबर से सरकारी, सहायताप्राप्त और प्राइवेट स्कूल छात्रों से पूरी फीस ले सकेंगे। लेकिन इससे पहले की अवधि की केवल ट्यूशन फीस ही ली जाएगी। यदि अभिभावक एकमुश्त रूप में फीस न दे पा रहे हो तो स्कूल प्रबंधन उन्हें किस्त की सुविधा देने पर भी विचार करे।