उत्तराखंड

पूर्व मंत्री नवप्रभात और उनकी पत्नी को किया गया होम क्वारंटाइन

 उत्तराखंड के कद्दावर कांग्रेसी नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री नवप्रभात को होम क्वारंटाइन किया गया है। उनके साथ उनकी पत्नी को भी क्वारंटाइन किया गया है। दरअसल दोनों ही दिल्ली से लौटे हैं। दोनों अपनी नातिक को लेकर दिल्ली से लौटे हैं। दिल्ली से लौटने के बाद डॉक्टरों ने दोनों को घर पर 14 दिन के लिए क्वारंटाइन रहने की सलाह दी।

आपको बता दें कि अपनी नातिन को लेकर दिल्ली से पूर्व कैबिनेट मंत्री नवप्रभात व उनकी पत्नी रूपा शर्मा को पहले गुरुवार को लौटना था। दोनों बुधवार को दिल्ली गए थे। उन्होंने दिल्ली जाने की इजाजत मांगी थी। उस दौरान पूर्व मंत्री ने कोतवाली में एक बॉन्ड भी भरा था। वापस आने के बाद उप जिला चिकित्सालय के नोडल अधिकारी डॉ. प्रदीप चौहान ने पूर्व कैबिनेट मंत्री व उनकी पत्नी की मेडिकल जांच की और दोनों को 14 दिन के लिए विकासनगर आवास में ही होम क्वारंटाइन कर दिया। चिकित्सकों ने पूर्व मंत्री के 30 अप्रैल की ट्रैवल हिस्ट्री को देखते हुए यह कदम उठाया है।

वहीं पूर्व कैबिनेट मंत्री ने कहा कि उन्हें कोविड 19 पर सरकार की ओर से जारी गाइड लाइन का 14 दिन होम क्वारंटाइन रहकर पालन करना है। उन्होंने कहा कि इन दिनों वह फोन काल व अन्य माध्यमों से ही लोगों से संपर्क करेंगे और क्षेत्र की समस्याओं का निस्तारण कराया जाएगा। क्वारंटाइन अवधि में वह लोगों से एक दूसरे के बीच दूरी का पालन करने, मास्क लगाने व सेनिटाइजर का इस्तेमाल करने की अपील भी करेंगे।

प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की ओर से चैनलों को दिए साक्षात्कार में कोरोना का दोष जमातियों पर लगाने को कांग्रेस नेता नवप्रभात ने गैर जिम्मेदाराना बताया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश का मुख्यमंत्री होने के नाते उन्हें पूरी जिम्मेदारी के साथ कोई भी बयान देना चाहिए।

होम क्वारंटाइन होने के बाद कांगेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री ने सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट कर कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री पद पर बैठे व्यक्ति को जिम्मेदारी से अपनी बात रखनी चाहिए। उन्होंने मुख्यमंत्री के हाल ही में दिए गए साक्षात्कार में कोरोना महामारी के बारे में दिए बयान को पूरी तरह गैर जिम्मेदार बताया |