उत्तराखंड

भगवान बदरीनाथ के अभिषेक के लिए 29 अप्रैल को पिरोएंगे तेल, ग्रह नक्षत्रों देखकर निकाली तिथि

बसंत पंचमी के पावन पर्व पर राजदरबार नरेंद्रनगर में राज पुरोहितों ने गणेश पंचांग और चौकी पूजन के साथ महाराजा मनुजेंद्र शाह के वर्षफल और ग्रह नक्षत्रों की गणना करने के बाद 18 मई को भगवान बदरीनाथ मंदिर के कपाट खोलने की तिथि निकाली। बदरी विशाल के अभिषेक के लिए राज दरबार में पिरोये जाने वाले तिलों के तेल की तिथि भी घोषित की।

मंगलवार को बसंत पंचमी के मौके पर नरेंद्रनगर राजदबार में राज पुरोहित संपूर्णानंद जोशी, आचार्य कृष्ण प्रसाद उनियाल और पं. विपिन उनियाल ने मनुजयेंद्र शाह के वर्षफल और ग्रह नक्षत्रों की गणना करने के बाद आगामी 18 मई को ब्रह्म मुहूर्त में 4 बजकर 15 मिनट पर भगवान बदरीनाथ मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोलने की तिथि के बारे में जानकारी दी। राजपुरोहित ने बताया कि भगवान बदरीनाथ के अभिषेक के लिए 29 अप्रैल को नरेन्द्रनगर राजदरबार में सुहागिन महिलाओं द्वारा तिलों का तेल पिरोया जाएगा।

डिम्मर गांव से डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत के प्रतिनिधि मंगलवार को गाडू घड़ा (तेल कलश) को लेकर नरेंद्रनगर राजमहल पहुंचे। राजमहल में उपस्थित श्रद्धालुओं ने फूल-मालाओं और ढोल- दमाऊ के साथ गाडू घड़े का जोरदार स्वागत किया।