उत्तराखंडराष्ट्रीय

आईएमए की पासिंग आउट परेड में पहली बार कैडेटों के परिजन नहीं हो पाएंगे शामिल

कोरोना का प्रभाव आईएमए की पासिंग आउट परेड पर भी पड़ा है। 13 जून को होने वाली पासिंग आउट परेड भी इस बार अपने पारम्परिक रंग में नहीं दिखेगी। परेड में इस बार आईएमए कैडेटों के परिजन या नजदीकी शामिल नहीं हो पाएंगे।

ऐसा पहली बार है जब आईएमए परेड सिर्फ रस्म अदायगी तक सीमित रहेगी। बता दें, पासिंग आउट परेड में काफी बड़ी संख्या में देश-विदेश के युवा कैडेट पास आउट होते हैं।

न केवल कैडेटों के परिवार के लोग बल्कि देश विदेश से कई गणमान्य लोग परेड में शिरकत करते हैं। लेकिन अभी जिस तरह की स्थिति है लोगों को शारीरिक दूरी के नियमों का सख्ती से पालन करने को कहा जा रहा है।

ऐसे में अकादमी प्रबंधन ने भी पीओपी के तहत होने वाली विभिन्न गतिविधियों को सीमित कर दिया है। परेड का स्वरूप इस बार भव्य नहीं होगा। इसमें कोरोना को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय की एडवाइजरी का भी पूरा पालन किया जाएगा।

बताया गया कि इस बार जेंटलमैन कैडेटों के अभिभावक व नाते-रिश्तेदार भी परेड में शिरकत नहीं करेंगे। इतना ही नहीं अन्य लोगों की भी संख्या सीमित रखी जाएगी।  निरीक्षण अधिकारी भी वेब कांफ्रेंसिंग के माध्यम से परेड से जुड़ सकते हैं।