अंतरराष्ट्रीय

कोरोना के खिलाफ जंग में पेरू का अनोखा फैसला, एक दिन महिला तो दूसरे दिन पुरुष निकलेंगे बाहर

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का कहर जारी है। करीब एक तिहासी से ज्यादा आबादी अपने घरों में कैद है। इस बीच कोरोना से निपटने के लिए पेरू ने एक अलग तरह के नियम की घोषणा की है। दरअसल, पेरू ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लिंग आधारित क्वारंटाइन की घोषणा की है। इसके अनुसार अब एक दिन सिर्फ महिलाएं घर से बाहर निकलेंगी तो दूसरे दिन सिर्फ पुरुष घर से बाहर निकलेंगे। ये नियम शुक्रवार से लागू हो चुका है।

पेरू के राष्ट्रपति मार्टिन विजकारा ने इस नए नियम की घोषणा गुरुवार को की। अब तक पेरू में कोरोना वायरस के 1414 मामले सामने आ चुके हैं जिनमें 55 लोगों की मौत हो चुकी है।

क्या है नियम : नए नियम के अनुसार सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को सिर्फ पुरुष ही घर से बाहर जा सकेंगे। वहीं, मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को सिर्फ महिलाएं ही घर से बाहर निकल सकेंगी। ये लिंग आधारित क्वारंटाइन का नियम 12 अप्रैल (रविवार) तक लागू रहेगा।

यह फैसला पनामा द्वारा लिंग आधारित क्वारंटाइन की घोषणा करने के ठीक दो दिन बाद लिया गया है। पनामा में भी महिलाओं और पुरुषों के लिए बाहर निकलने के खास दिन तय किए गए हैं। इस नियम को लागू करने का उद्देश्य लोगों से आग्रह करना है कि चूंकि उनके प्रियजन घर में क्वारंटाइन में हैं, इसलिए उन्हें जल्दी घर पहुंच जाना चाहिए।

पेरू ने कहा कि वह भी ऐसे ही नियम का पालन करेगा क्योंकि इससे अन्य देशों को सकारात्मक परिणाम मिले हैं। विजकारा ने कहा, इस नियम से ये पहचानने में आसानी रहेगी कि किसे बाहर नहीं रहने देना चाहिए।