उत्तराखंड

कोरोना: वायरस की जाचं को मिलेगी रफ्तार, दून के आईआईपी में खुली लैब

आईआईपी मोहकमपुर में कोविड टेस्ट लैब का शुभारंभ अपर स्वास्थ्य सचिव युगल किशोर पंत व आईआईपी निदेशक डा.अंजन रे ने किया। दून में कोरोना टेस्ट में इस लैब के बनने से तेजी आने की उम्मीद है।

पहले दिन दस सैम्पल की जांच के लिए इस लैब में लाए गए। लैब में फिलहाल तीस सैम्पल रोजाना जांच की क्षमता है। जिसे बढ़ाकर 100 टेस्ट प्रतिदिन तक किया जा सकता है।

पोटेबल कैबिन लेकर आईआईपी के इंजीनियरों की टीम ने इस ग्रीन फील्ड लैब को करीब सात हफ्ते में तैयार किया है। टेस्ट लैब इस तरह से बनाई गई है कि आईआईपी परिसर की हलचल का लैब के कामकाज पर फर्क न पड़े और लैब का अपना कंटेनमेंट जोन कायम रहे।

लैब के बाहर इन्फेक्शन का किसी तरह का खतरा नहीं रहेगा। लैब के लिए प्रोजेक्ट स्टाफ की भर्ती पूरे देश से की गई है। आईआईपी के वैज्ञानिकों की टीम भी लैब में काम करेगी।

लैब पर करीब दो करोड रुपये की लागत आई है। लैब के लिए पेट्रोलियम मंत्रालय से 22 मार्च को स्वीकृति मिलने के बाद से ही काम शुरू कर दिया गया था। मगर लॉकडाउन, खराब मौसम, लैब के लिए प्रशिक्षित स्टॉफ की व्यवस्था में समय लगने से इसे 10-12 दिन की देरी से चालू किया जा सका।

लैब में पांच कर्मचारी तैनात किए गए हैं, जिसमें पूरे प्रदेश से लाए जाने वाले सैम्पल की जांच की जाएगी। अतिरिक्त पीसीआर मशीन और स्टाफ बढ़ाकर लैब की क्षमता बढ़ाई जा सकती है।

मौके पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से डा.पंकज सिंह, डा.अर्जुन सेंगर, आईआईपी से डा.अमर जैन, डा.डीसी पांडे, डा.थलाडा भास्कर, पूनम गुप्ता, सुरेश पंत, डा.देवाशीष घोष आदि मौजूद थे।