उत्तराखंड

अस्पताल से भागे कोरोना पॉजीटिव का शव प्राइवेट वार्ड में मिलने से मचा हड़कंप

बुधवार सुबह से सुशीला तिवारी अस्पताल से गायब कोरोना पॉजीटिव मरीज का शव गुरुवार सुबह अस्पताल के ही प्राइवेट वार्ड में मिला। इस घटना से अस्पताल में हड़कंप मच गया। मृतक के परिजनों ने इस मामले में अस्पताल के कर्मचारियों पर डयूटी में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए प्रशासन से कार्रवाई की मांगी की है।

रामनगर निवासी रईस अहमद (60) एक अगस्त को कोरोना पॉजीटिव मिले थे। जिसके बाद उन्हें सुशीला तिवारी अस्पताल में कोरोना मरीजों के लिए बने सी वार्ड में भर्ती किया गया था। पर बुधवार तड़के सुबह मरीज मौका देखकर वार्ड से  भाग निकला।

इसकी सूचना मिलते ही अस्पताल प्रबंधन के हाथपैर फूल गए। पुलिस व अस्पताल कर्मी पूरे दिन मरीज को ढूंडते रहे पर मरीज का कुछ पता नहीं चला। पर गुरुवार सुबह जब कर्मचारियों ने प्रथम तल पर बने प्राइवेट वार्ड में सफाई को पहुंचे तो वहां रईस अहमद गिरे पड़े थे।

जांच करने पर पता चला कि उनकी मृत्यु हो गई है। अस्पताल पहुंचे रईस अहमद के बेटे सरफराज ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया। कहा कि डयूटी पर तैनात कर्मचारियों के होते हुए कैसे उनके पिता वार्ड से गायब हो गए यह बड़ा सवाल है।

उन्होंने इस मामले में जिम्मेदार कर्मचारियों पर कार्रवाई की मांग की है। अस्पताल के एमएस डॉ. अरूण जोशी ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। मामले की जांच के लिए पुलिस व प्रशासन के अधिकारी अस्पताल पहुंच चुके हैं।