?????????????????????????????????????????????
उत्तराखंड

लॉकडाउन के बीच पिथौरागढ़ में यहां मनाया जा रहा है एक बड़ी खुशी का जश्न

पूरे देश में लॉकडाउन है और लोग घरों में कैद हैं। उत्तराखंड का सुदूर पिथौरागढ़ जिला भी इससे अछूता नहीं है लेकिन यहां की डीडीहाट तहसील के लोग अपने घरों में रहकर एक बड़ी खुशी का जश्न मना रहे हैं। दरअसल इस तहसील के खेतार भंडारी गांव के लाल ने इन सबका सीना चौड़ा जो कर दिया है।

पिथौरागढ़ की डीडीहाट तहसील क्षेत्र के खेतार भंडारी गांव निवासी कुंवर सिंह भंडारी को सीआरपीएफ (सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स) में पुलिस महानिरीक्षक पद से अपर महानिदेशक पद पर पदोन्नत मिली है। इसी खबर से उनके गृह क्षेत्र में खुशी की लहर दौड़ रखी है। आपको बता दें कि कुंवर सिंह भंडारी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा यहां के दूनाकोट के जूनियर हाईस्कूल से पूरी की की। इसके बाद 12वीं में पढ़ने के लिए उन्होंने अल्मोड़ा का रुख किया और राजकीय इंटर कालेज अल्मोड़ा से 12वीं उत्तीर्ण की। इसके बाद ग्रेजुएशन और पोस्टग्रेजुएशन भंडारी ने  एलएसएम महाविद्यालय पिथौरागढ़ से पास किया। वर्ष 1984 में वह सीआरपीएफ में पहले ही प्रयास में असिस्टेंट कमांडेंट पद पर नियुक्त हुए।

इसके बाद भंडारी अपनी कड़ी मेहनत के बल पर वह आज एडीजी पद पर पहुंचने में कामयाब हुए। वह एक अनुशासन प्रिय, कर्मठ व संवेदनशील उच्च अधिकारी के रू प में जाने जाते हैं। भंडारी इस पद पर पहुंचने वाले डीडीहाट क्षेत्र के पहले अधिकारी हैं। अपने सेवाकाल में वह उत्कृष्ट व सराहनीय सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस मेडल से सम्मानित हो चुके हैं। वर्तमान में वह बतौर निदेशक आंतरिक सुरक्षा अकादमी माउंट आबू राजस्थान में तैनात है। उनकी सफलता पर पूरे जिले में खुशी की लहर है। भंडारी का जीवन व मेहनत युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणास्रोत है।