उत्तराखंड

बर्ड फ्लू:उत्तराखंड में वायरस का प्रकोप जारी,नौ कौओं और दो उल्लुओं की मौत

उत्तराखंड के सीमांत जनपद पिथौरागढ़ के बंगापानी क्षेत्र में 11 पक्षियों के मृत अवस्था में मिलने से खलबली मच गई है। जबकि, कई मुर्गियों के मरने की भी खबर है। हालांकि पशुपालन विभाग ने मृत पक्षियों में बर्ड फ्लू होने से इनकार किया है। बर्ड फ्लू की आशंका से खौफजदा व्यापार संघ ने चिकन व्यापारियों से आगामी बुधवार तक दुकानें बंद रखने की अपील की है।

मदकोट क्षेत्र में बीते रोज नौ कौओं और दो उल्लू मरे मिले। एकाएक पक्षियों के मरे मिलने से लोगों को बर्ड फ्लू का खौफ सता रहा है। ग्रामीणों के मुताबिक बीते कुछ दिनों से मुर्गियों के मरने की घटनाएं सामने आई हैं। इधर, सूचना पाकर पशुपालन विभाग मौके पर पहुंचा। चिकित्सकों का कहना है कि मृत पक्षियों में बर्ड फ्लू जैसे कोई लक्षण नहीं मिले हैं।

वहीं लोगों की सुरक्षा को देखते हुए व्यापार संघ ने आगामी छह दिनों के लिए मुनस्यारी के चिकन व्यापारियों से अपनी दुकानें बंद रखने को कहा है। व्यापार संघ अध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह सोरागी, गंगा सिंह धामी, गोविंद सिंह कुमय्या, हरेन्द्र सिंह पवार व मनोहर सिंह ने कहा कि एहतियातन आगामी तीन फरवरी तक चिकन की दुकानें बंद रखी जाएगी।

टीम को मौके पर भेजा गया है। प्रारंभिक जांच में मृत पक्षियों में बर्ड फ्लू के कोई लक्षण नहीं मिले हैं। बर्ड फ्लू को लेकर लोगों को जागरूक किया जाएगा।