राष्ट्रीय

इजरायली दूतावास के बाहर धमाके का 29-29 कनेक्शन तो नहीं, जांच कर रहीं एजेंसियां

इजरायली दूतावास के बाहर शुक्रवार को हुआ धमाका कैसे हुआ और किसने किया इसकी जांच जारी है। अभी तक पुलिस के हाथ कोई सुराग नहीं लगा है। शुरुआती जांच में आशंका जताई जा रही है कि आईईडी को फूलों के गमले में छुपा कर रखा गया था। हालांकि इस बारे में अभी कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल पाई है कि इसे यहां पहले से रखा गया था या फिर कोई इसे यहां रखकर भाग गया। वहीं 29-29 कनेक्शन पर भी नजर है क्योंकि शुक्रवार को भारत-इजराइल के डिप्लोमेटिक रिश्तों की 29वीं सालगिरह थी।

ब्लास्ट मामले की जांच में जुटी टीम इस बात का पता लगा रही है कि कहीं बम को मिट्टी के नीचे दबाकर तो नहीं रखा गया है। दरअसल घटना वाली जगह को देखने के बाद जांच टीम को ऐसा लगा कि थोड़ा दबा कर इस बम को रखा गया था और उसके ऊपर एक लकड़ी का प्लाइवुड का टुकड़ा रखा हुआ था।

हालांकि इस पर कोई बयान तो सामने नहीं आया है। लेकिन सूत्रों के मुताबिक हर एंगल से जांच की जा रही हैं ऐसा लगता है कि शायद कोई वॉक करने आता तो वह इसका शिकार हो जाता। इसके लिए ही इस बम को यहां रखा गया होगा। यह आशंका भी जताई जा रही है कि इसके लिए रेकी भी की गई होगी। बहरहाल जांच अभी प्रारंभिक स्तर पर है तो इस बारे में अभी कोई बयान नहीं आ रहा है।