राष्ट्रीय

5 August – 32 सेकेंड में Pप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लिखेंगे अयोध्या का इतिहास

कई दशकों का विवाद अनगिनत लोगों की कुर्बानियां  बेहिसाब बयानबाजियां और एक ऐतिहासिक फैसला अयोध्या दुनिया भर की निगाहें पांच अगस्त को राम की नगरी में उत्सुकता से एक एक पल की गवाह बन रही होंगी सरयू के जल के कलकल कोलाहल के बीच ढोल मृदंग और मझीरे की सुर लय ताल में जब जय श्रीराम का जयघोष गूंजेगा तब केवल 32 सेकेंड में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक नए इतिहास का निर्माण करेंगे जी हाँ अयोध्या में बुधवार को राम मंदिर का भूमि पूजन होना है।मुख्य पूजन पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी निर्धारित शुभ मुहूर्त में करेंगे।

आपको बता दें कि यह मुहूर्त केवल 32 सेंकेड का है जो दोपहर 12 बजकर 44 मिनट आठ सेकेंड से लेकर 12 बजकर 44 मिनट 40 सेकेंड के बीच रहेगा इस दौरान षोडश वरदानुसार 15 वरद में ग्रह स्थितियों का संचरण शुभ और अनुकूलता प्रदान करने वाला है। पूरे कार्यक्रम में काशी, अयोध्या, दिल्ली, प्रयाग के विद्वानों को बुलाया है। अलग-अलग पूजा के अलग-अलग एक्सपर्ट हैं। पूरी टीम 21 ब्राह्मणों की है जो अलग अलग तरीकों से पूजा कराएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच अगस्त को अयोध्या में करीब तीन घंटे तक इस ऐतिहासिक पल के निर्माता बनेंगे पीएम मोदी सुबह 9:35 बजे नई दिल्ली से विशेष विमान से लखनऊ के लिए निकलेंगे और लखनऊ से 10:40 बजे हेलिकॉप्टर के जत्थे के साथ अयोध्या के लिए प्रस्थान करेंगे। अयोध्या के साकेत डिग्री कॉलेज के हेलीपैड पर वह 11:30 लैंड करेंगे। इसके बाद 11:40 बजे उनका अयोध्या में हनुमान गढ़ी में दस मिनट का दर्शन-पूजन का कार्यक्रम है।उनका 12 बजे राम जन्मभूमि परिसर पहुंचने का कार्यक्रम है।

इस दौरान दस मिनट वह रामलला विराजमान का दर्शन व पूजन करेंगे। दिन में 12:15 बजे वह रामलला परिसर में पारिजात का पौधा रोपेंगे। इसके बाद 12:30 बजे वहां राम मंदिर के लिए भूमिपूजन कार्यक्रम का शुभारंभ होगा। 12:40 बजे राम मंदिर की आधारशिला की स्थापना होगी और इस दौरान महज 32 सेकेंड के मुहूर्त में इतिहास निर्माण हो जायेगा बाद प्रधानमंत्री मोदी दो बजकर पांच मिनट पर साकेत कॉलेज हेलीपैड के लिए प्रस्थान करेंगे। जहां से 2:20 बजे उनका हेलिकॉप्टर लखनऊ के लिए उड़ान भरेगा।