उत्तराखंड

कोरोना: 03 दिन में 350 जमाती होम क्वारंटाइन- देहरादून में 185 जमाती चिह्नित

नई दिल्ली समेत विभिन्न राज्यों से लौटे जमातियों को उत्तराखंड में चिह्नित करने का काम युद्धस्तर पर जारी है। यहां तीन दिनों के भीतर साढ़े तीन सौ जमाती होम क्वारंटाइन कर दिए गए हैं। शुक्रवार को राज्य में 58 जमातियों को होम क्वारंटाइन किया गया। ज्यादातर लोग ऐसे हैं, जो 28 दिनों में नई दिल्ली या बाकी राज्यों से लौटे थे।

बीते गुरुवार को तीन जमातियों में कोरोना की पुष्टि हुई थी। इसके बाद से पुलिस और सतर्क हो गई है। कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पुलिस लगातार मशक्कत कर रही है और लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले लोगों को गिरफ्तार भी किया जा रहा है। इसी क्रम में नई दिल्ली समेत कई जमात से उत्तराखंड लौटे लोगों को खोजा जा रहा है।

पुलिस टीम के लिए 20 हजार रुपये का ईनाम
बीते गुरुवार को तीन जमाती कोरोना पॉजिटिव मिले थे, उन्हें यूएसनगर पुलिस ने बुधवार को मुरादाबाद से पैदल हल्द्वानी आते हुए रुद्रपुर में पकड़ा था। कुल तेरह जमातियों में से तीन लोगों में कोरोना का संक्रमण मिलना चिंताजनक है। डीजी (कानून व्यवस्था) अशोक कुमार ने इन जमातियों को पकड़ने वाली टीम को 20 हजार के ईनाम की घोषणा की है।

लॉकडाउन तोड़ने पर 276 लोग गिरफ्तार
दूसरी ओर, लॉकडाउन के उल्लंघन में शुक्रवार को कुछ कमी आई। पुलिस ने राज्यभर में 276 लोगों को पकड़ा है। जबकि, बीते गुरुवार को 311 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। डीजी (कानून व्यवस्था) अशोक कुमार ने बताया कि पिछले दो दिनों से लॉकडाउन तोड़ने वाले लोगों की संख्या बढ़ रही थी। लेकिन, शुक्रवार को पुलिस ने सख्ती की तो अच्छे नतीजे भी सामने आए।

देहरादून में 185 जमाती चिह्नित
नई दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज और बाकी शहरों से जमात में शामिल होकर 28 दिन के भीतर लौटने वाले लोगों को प्रशासन, स्वास्थ्य एवं पुलिस की टीमें चिह्नित करने में जुटी हैं। इसमें स्थानीय मस्जिद समिति, उलमा और जिम्मेदार लोगों का भी सहयोग लिया जा रहा है। शुक्रवार को पूरे जिले में 64 लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया। दो दिन में जिलेभर में अब तक 185 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। शुक्रवार को 26 सैंपल जांच को भी भेजे गए।

गुरुवार को 83 लोगों को चिह्नित करके होम क्वारंटाइन किया गया था। शुक्रवार को रायपुर इलाके में 30 और नगरीय क्षेत्र में 34 लोगों को क्वारंटाइन किया गया। सुद्धोवाला सेंटर में भी दो और लोगों को क्वारंटाइन में भेजा गया। इससे पहले गुरुवार को यहां 36 लोगों को क्वारंटाइन किया गया था। कोरोना के जिला नोडल अधिकारी एसीएमओ डॉ. दिनेश चौहान ने जानकारी दी कि सीएमओ डॉ. मीनाक्षी जोशी के निर्देशन में सर्विलांस टीमें जिलेभर में लगाई गई हैं। घर-घर सर्वे भी किया जा रहा है।

38 जमातियों की हो रही है काउंसलिंग  
डॅाक्टर सुद्धोवाला में क्वारंटाइन किए गए 38 जमातियों की लगातार काउंसलिंग कर रहे हैं। उन्हें यह समझाया जा रहा है कि उनके भले के लिए उन्हें यहां लाया गया है। उनके घर पर रहने से परिवार और पड़ोसियों को दिक्कत हो सकती है। कोई लक्षण नहीं आने पर उन्हें घर भेज दिया जाएगा। एसीएमओ डॉ. संजीव दत्त, नोडल अधिकारी डॉ. यूसी कंडवाल, डॉ. अश्वनी कुमार ने भी उन्हें समझाया है। दूसरी ओर, जमात के लोगों ने भी पूरा सहयोग करने का आश्वासन दिया है |

विकासनगर क्षेत्र में जमातियों को चेतावनी
विकासनगर। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पुलिस की मौजूदगी में बाहरी राज्यों से विकासनगर क्षेत्र की अलग-अलग जमातों में शामिल होने के लिए यहां रह रहे लोगों का स्वास्थ्य जांचा। इस दौरान सभी 43 लोगों को क्वारंटाइन किया गया और घरों से बाहर निकलने पर कार्रवाई की चेतावनी भी दी।

विकासनगर कोतवाली क्षेत्र के तहत जीवनगढ़, नवाबगढ़ और बुलाकीवाला गांवों में बाहरी राज्यों से 18 और 19 मार्च को 43 लोग अलग-अलग जमातों में शामिल होने के लिए पहुंचे थे। तब से लेकर ये लोग इन्हीं गांवों में रह रहे हैं। सीओ बीएस धौनी ने बताया कि सभी जमातियों को बाहर नहीं घूमने को चेताया गया है।